भारत का संविधान कहाँ से लिया गया है? भारतीय संविधान के स्रोत

Share the knowledge

कई बार विभिन्न परीक्षाओं में संविधान से जुड़े सवाल पूछे जा चुके है| इस article में हम कुछ संविधान के स्रोतों के बारे में आपको बताने जा रहे है| सभी छात्रों इनको अपनी नोट्स में लिख लें|

भारत का संविधान कहाँ से लिया गया है: संविधान निर्माताओं ने दुनिया भर के प्रमुख संविधानों का अध्ययन करने के बाद भारत का संविधान बनाया था| इसके कई स्रोत है जिनके बारे में हम आगे बात करेंगे| 

भारतीय संविधान की मुख्य विशेषताएं 

भारतीय संविधान का गठन दुनिया के सभी प्रमुख संविधानो का गहन अध्ययन करने के बाद किया गया है| इसके अलावा निर्माताओं ने निम्न कारकों पर भी विचार किया था –

  • भारत का ऐतिहासिक परिप्रेक्ष्य (perspective)
  • भारत की भौगोलिक विविधता और
  • भारत की सांस्कृतिक और पारंपरिक विशेषताएं।

बहुत लोग भारतीय संविधान को ‘bags of borrowing’ या ‘उधार का थैला’ या कभी-कभी अज्ञानतावश इसे कॉपी-पेस्ट तक कह देते हैं। इसका अधिकांश भाग Government of India Act 1935 से लिया गया है। 

डॉ. अम्बेडकर ने इस संबंध में कहा था कि –

"इस आरोप पर कि संविधान ने Government of India Act, 1935 से काफी बड़ा हिस्सा ले लिया है, मैं कोई माफी नहीं मांगता। उधार लेने में शर्म करने की कोई बात नहीं है। इसमें किसी तरह की साहित्यिक चोरी शामिल नहीं है। किसी के पास भी संविधान के मौलिक विचारों का कोई पेटेंट अधिकार नहीं है"

यदि किसी के पास किसी भी तरह के विचार का कोई कॉपीराइट नहीं है, तब उस विचार को अपनाने में कोई परेशानी नहीं है|

भारतीय संविधान के स्रोत | Source of Indian Constitution in Hindi 

भारत सरकार अधिनियम 1935 (संविधान का 75%)

  1. संघीय योजना (कनाडा के संविधान से भी)
  2. राज्यपाल का कार्यालय
  3. न्यायपालिका
  4. लोकसेवा आयोग
  5. आपातकालीन प्रावधान

ब्रिटिश संविधान

  • सरकार का संसदीय स्वरूप
  • एकल नागरिकता का विचार
  • कानून के नियम का विचार
  • स्पीकर की संस्था और उनकी भूमिका
  • कानून बनाने की प्रक्रिया
  • विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया 
  • द्विसदनीय विधानमंडल
  • मंत्रियों की कैबिनेट प्रणाली
     

संयुक्त राज्य अमेरिका का संविधान

  • प्रस्तावना
  • लिखित संविधान
  • मौलिक अधिकार
  • न्यायपालिका की स्वतंत्रता और सरकार की तीनों शाखाओं के बीच शक्तियों को अलग करना
  • न्यायिक समीक्षा
  • सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर के रूप में राष्ट्रपति
  • कानून के तहत समान संरक्षण
  • राज्य सभा के पूर्व कार्यालय अध्यक्ष के रूप में उपाध्यक्ष

आयरिश संविधान

  • राज्य नीति के निर्देशक सिद्धांत {आयरलैंड ने इसे स्पेन से उधार लिया था}
  • राष्ट्रपति के चुनाव की विधि
  • राष्ट्रपति द्वारा राज्यसभा में सदस्यों का नामांकन

ऑस्ट्रेलियाई संविधान

  • देश के भीतर और राज्यों के बीच व्यापार और वाणिज्य की स्वतंत्रता
  • संसद के दो सदनों का संयुक्त अधिवेशन (Joint Session)
  • समवर्ती सूची (Concurrent List)

फ्रांसीसी संविधान

  • स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व के विचार

कनाडा का संविधान

  • सरकार का एक अर्ध-संघीय रूप – एक मजबूत केंद्रीय सरकार के साथ एक संघीय प्रणाली
  • केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के बीच शक्तियों का वितरण
  • केंद्र सरकार द्वारा रखी गई अवशिष्ट शक्तियां (Residual powers)

सोवियत संघ / रूस का संविधान

जर्मनी का संविधान / वीमर संविधान

दक्षिण अफ्रीका का संविधान

जापान का संविधान 

  • कानून की प्रक्रिया
  • विधि की प्रक्रिया = विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया + प्रक्रिया
    निष्पक्ष और न्यायपूर्ण होना चाहिए न कि मनमाना।

संविधान की कई विशेषताएं केवल एक स्रोत से प्रभावित न होकर कई चीजों का परिणाम है, जैसे मौलिक अधिकार न केवल अमेरिकी संविधान से, बल्कि मानव अधिकारों की सार्वभौमिक घोषणा (Universal declaration of Human rights) से भी प्रभावित थे।

भारत का संविधान कहाँ से लिया गया है?

संविधान निर्माताओं ने दुनिया भर के प्रमुख संविधानों का अध्ययन करने के बाद भारत का संविधान बनाया था| इसके कई स्रोत है|

जर्मनी के वाइमर संविधान से कौन से प्रावधान लिए गए हैं?

आपातकालीन शक्तियां

राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत किस देश के संविधान से लिए गए हैं ?

आयरिश संविधान से आयरलैंड ने इसे स्पेन से उधार लिया था|

भारतीय संविधान कब लागू हुआ?

26 जनवरी, 1950


Share the knowledge

1 thought on “भारत का संविधान कहाँ से लिया गया है? भारतीय संविधान के स्रोत”

Leave a Comment