जब खुद हल्क इरफ़ान से मिलने आया

Share the knowledge

2010  की इस घटना का जिक्र असीम छाबरा की किताब
“Irrfan Khan: The Man, The Dreamer, The Star”
में किया गया है| 

   
ऑस्कर विजेता फिल्म स्लमडॉग मिलियनेयर की सफलता के कुछ समय बाद इरफ़ान खान न्यू यॉर्क में एक कैफ़े में बैठे हुए थे, तभी उनकी नज़र उसी कैफ़े में बैठे हॉलीवुड अभिनेता मार्क रफैलो पर पड़ी| इरफ़ान उनसे मिलना चाहते थे लेकिन वो मार्क को व्यक्तिगत रूप से नहीं जानते थे|
   इरफ़ान के साथ डायरेक्टर आदित्य भट्टाचार्या और प्रोडूसर लेस्ली होलेरान (Leslie Holleran) भी थी | अचानक से इरफ़ान ने आदित्य को कोहनी से बुलाया और मार्क की ओर इशारा किया| इरफ़ान ने आदित्य को बताया की वो मार्क के बहुत बड़े फैन है और कुछ भी करके उनसे मिलना चाहते है| तब उन्होंने लेस्ली से पूछा की क्या वो  मार्क को जानती है? लेस्ली मार्क को जानती तो थी लेकिन मार्क शायद अपनी फैमिली से घिरे थे तो वो उनसे मिलने नहीं गई|
   जब मार्क लगभग जाने लगे तो इरफ़ान को काफी बुरा लगा की उनकी मुलाकात मार्क रफैलो से नहीं हो पाई| तभी “Avengers End Game” में “Hulk” का किरदार निभाने वाले मार्क ने इरफ़ान को देखा और उनकी ओर हाथ बढ़ाते हुए बोले “दोस्त मुझे तुम्हारा काम बहुत पसंद है |” मार्क ने न सिर्फ इरफ़ान खान को पहचान लिया बल्कि वो खुद आकर बोले भी|
 

असीम छाबरा की ये किताब रूपा पब्लिकेशन के द्वारा प्रकाशित की गई है और ये किताब इरफ़ान खान की जीवनी है | 

आज भले ही इरफ़ान खान हमारे बीच  नहीं है लेकिन अगर उनको भारतोय सिनेमा का प्रेमचंद कहा जाये तो गलत नहीं होगा | 54 साल की उम्र में इरफ़ान ने देश ही नहीं दुनिया में नाम कमाया है| 


Share the knowledge

Leave a Comment